News Follow Up
  • Home
  • टेक्नोलॉजी
  • http://foundationforpmr.org/2022/06/20/ggfpke05sif प्रदेश में इजरायल के सहयोग से बनेंगे कृषि उत्कृष्टता केंद्र पर्यटन, सिंचाई, व्यापार-उद्योग क्षेत्र में भी बढ़ेगा साझा सहयोग मुख्यमंत्री श्री चौहान से इजरायल के काउंसलेट जनरल श्री कोबी शोशानी ने की सौजन्य भेंट
https://mechanicslien.com/daoa7b8tj1d कृषिटेक्नोलॉजी

प्रदेश में इजरायल के सहयोग से बनेंगे कृषि उत्कृष्टता केंद्र पर्यटन, सिंचाई, व्यापार-उद्योग क्षेत्र में भी बढ़ेगा साझा सहयोग मुख्यमंत्री श्री चौहान से इजरायल के काउंसलेट जनरल श्री कोबी शोशानी ने की सौजन्य भेंट

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से आज इज़राइल के काउंसलेट जनरल श्री कोबी शोशानी ने मध्यप्रदेश प्रवास के दौरान मुख्यमंत्री निवास पर सौजन्य भेंट की। उन्होंने प्रदेश की प्राकृतिक सुंदरता की प्रशंसा की। मुख्यमंत्री निवास से बड़ी झील का दृश्य देख आनंदित भी हुए।काउंसलेट जनरल श्री शोशानी ने मध्यप्रदेश में कृषि क्षेत्र में हुए विकास की सराहना की। उन्होंने कृषि सहित सिंचाई, उद्योग, व्यापार-वाणिज्य क्षेत्रों में इजराइल द्वारा पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया। वर्तमान में प्रदेश में मालनपुर और मंडीदीप में इजराइल की कंपनियों के कुछ प्रतिष्ठान कार्यरत हैं।मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इजराइल के सहयोग से मध्यप्रदेश इन क्षेत्रों में बेहतर कार्य के लिए तैयार है। इजरायल द्वारा प्राप्त सुझाव पर भी विचार कर अमल किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इजराइल द्वारा प्रदेश के 2 जिलों छिंदवाड़ा और मुरैना में संतरे एवं सब्जी उत्पादन के प्रकल्प से जुड़ने की पहल की प्रशंसा की। सिंचाई क्षेत्र में भारत और इजराइल द्वारा मध्यप्रदेश के बुंदेलखंड अंचल में जल परियोजनाओं पर कार्य किया जा रहा है। विशेष रूप से दोनों देश जल प्रबंधन के अन्य संभावित क्षेत्रों में सहयोग के लिए तत्पर हैं। मध्यप्रदेश में औद्यागिक निवेश की संभावनाओं को भी इजराइली कम्पनियों के सहयोग से बढ़ावा दिया जाएगा।मुख्यमंत्री श्री चौहान को श्री शोशानी ने बताया कि इजराइल का भारत में 29 कृषि उत्कृष्टता केन्द्रों में से दो केन्द्र मध्यप्रदेश में स्थापित करने का प्रस्ताव है। इसमें छिंदवाड़ा में संतरा उत्पादन और मुरैना में सब्जी उत्पादन को बढ़ावा दिया जाएगा। इजराइल में एक पखवाड़े के विशेषण पाठ्यक्रम में मध्यप्रदेश के कृषि और उद्यानिकी विभाग के अधिकारी लाभान्वित किए जाएंगे।मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि केन-बेतवा परियोजना के क्रियान्वयन से बुंदेलखंड क्षेत्र का कायाकल्प होगा। प्रधानमंत्री श्री मोदी के “पर ड्रॉप मोर क्रॉप” के सिद्धांत और इजरायल की कृषि शैली से मध्यप्रदेश प्रेरित है। प्रधानमंत्री श्री मोदी के संकल्प को पूरा करने के लिए भरसक प्रयास होंगे।

https://dmhs.ca/uncategorized/577w3ity7zy

Related posts

POCO M3 Pro भारत में इस दिन देगा दस्तक, कंपनी के पहले 5G फोन में मिलेंगे ये फीचर्स

NewsFollowUp Team

किसानों ने बोई मक्का, प्रदेश से छिन सकता है सोयाबीन स्टेट का दर्जा

NewsFollowUp Team

देश में रिकॉर्ड 331.05 मिलियन टन बागवानी उत्पादन

NewsFollowUp Team