News Follow Up
देश

पदभार ग्रहण करते ही एक्‍शन में आए स्वास्थ्य मंत्री ने आंबेडकर अस्पताल के अफसर से पूछा, कहां है करोड़ों की खरीदी गई जांच मशीन

स्वास्थ्य मंत्री के रूप में बुधवार को पदभार ग्रहण करने के साथ ही श्याम बिहारी जायसवाल आंबेडकर अस्पताल पहुंच गए। वहां उन्होंने अस्पताल की स्वास्थ्य सुविधाओं को जांचा। स्वास्थ्य मंत्री ने सबसे पहले एडवांस कार्डियक इंस्टिट्यूट (एसीआइ) में कार्डियोलाजी विभाग का निरीक्षण कर मरीजों से मुलाकात की। इस दौरान विभाग में पदस्थ संविदा कर्मचारियों ने नियमितिकरण की मांग की।

स्वास्थ्य मंत्री ने आश्वस्त किया कि जल्द ही इस पर विचार होगा। इसके बाद स्वास्थ्य मंत्री नेत्र रोग विभाग में पहुंचे। यहां पर उन्होंने अपनी आंखों की जांच कराकर व्यवस्था की जानकारी ली। नेत्र रोग विभाग की विभागाध्यक्ष डा निधि पाण्डेय ने स्वास्थ्य मंत्री को सुविधाओं की जानकारी देते हुए रेटिना सर्जरी की रेटिना विक्ट्रेक्टामी मशीन की उपयोगिता बताते हुए उसकी खरीदी करने मांग की।

स्वास्थ्य मंत्री ने कीमत पूछा तो विभागाध्यक्ष ने करीब एक करोड़ की जानकारी दी। मशीन की कीमत सुनकर स्वास्थ्य मंत्री ने पूछा कि पहले यह बताइए कि 17 करोड़ में खरीदी गई मशीन कौन-सी और कहां हैं। इसकी काफी चर्चा है। स्वास्थ्य मंत्री की यह बात सुनकर अस्पताल के अधिकारी एक-दूसरे का मुंह देखने लगे।

अस्पताल अधीक्षक डा एसबीएस नेताम ने बताया कि पैट सीटी मशीन है, जो कैंसर विभाग में स्थापित है। नेत्र रोग विभाग के बाद स्वास्थ्य मंत्री सर्जरी और स्त्री रोग विभाग का निरीक्षण करने के बाद क्षेत्रीय कैंसर संस्थान में पहुंचे। निरीक्षण के दौरान स्वास्थ्य मंत्री के साथ मेडिकल कालेज की डीन डा तृप्ति नागरिया, अस्पताल अधीक्षक एसबीएस नेताम समेत विभागाध्क्ष व कर्मचारी थे।

कुछ तो होगा, जो पदभार ग्रहण करते ही यहां आया

स्वास्थ्य मंत्री के निरीक्षण के दौरान कर्मचारियों ने बताया कि यहां पर काफी समस्याएं व्याप्त हैं, जिसको कांग्रेस सरकार ने दूर नहीं किया। यह बात सुनकर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कुछ तो होगा, जो पदभार ग्रहण करते ही आंबेडकर अस्पताल देखने के लिए आया। कांग्रेस सरकार के कार्यों पर थोड़ा भी भरोसा नहीं है।

उन्होंने कहा कि एक वर्ष के भीतर अस्पताल में व्याप्त सभी कमियों-खामियों को दूर कर प्रदेशवासियों को बेहतर इलाज उपलब्ध कराना है। आंबेडकर अस्पताल में राजधानी के अलावा दूसरे जिलों से भी मरीज पहुंचते हैं, इसलिए यहां पर जांच और इलाज की पूरी व्यवस्था होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ी तो पुराने टेंडर निरस्त कर री-टेंडर किया जाएगा।

शुरू होगी पैट सीटी मशीन

क्षेत्रीय कैंसर संस्थान में पहुंचकर स्वास्थ्य मंत्री ने पैट सीटी मशीन को देखकर पूछा कि क्या इसका भुगतान कर दिया गया है। कैंसर विभागाध्यक्ष डा विवेक चौधरी ने बताया कि एजेंसी को मशीन का पूरा भुगतान किया जा चुका है। इसे शुरू करने के लिए राज्य शासन को कई बार पत्राचार किया गया लेकिन सफलता नहीं मिली।

स्वास्थ्य मंत्री ने आश्वस्त किया कि जल्द से जल्द मशीन का चालू कराया जाए, ताकि लोगों को सुविधा का लाभ मिल सके। यहां पर करीब आधे घंटे तक स्वास्थ्य मंत्री ने समय व्यतीत किया। इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री ने मरीजों से भी मुलाकात की।

Related posts

कांग्रेस ने तय किया सीट शेयरिंग का फॉर्मूला, जानिए यूपी, महाराष्ट्र, झारखंड, बिहार, बंगाल में क्या रहेगी रणनीति

NewsFollowUp Team

अमेरिका बनेगा भारत की अगुवाई वाले इंटरनेशनल सोलर अलायंस का हिस्सा

NewsFollowUp Team

कोरोना कहर के बीच तीसरे शाही स्नान में 35 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने हरिद्वार में लगाई डुबकी

NewsFollowUp Team