News Follow Up
फॉलोअपमध्यप्रदेश

जबलपुर में नाली विवाद में 10 दिन पहले हुआ था खूनी संघर्ष, आरोपियों ने दंपती पर चाकू से 40 वार किए

जबलपुर के गोरखपुर क्षेत्र में 14 जून की रात नाली विवाद को लेकर हुए खूनी संघर्ष में घायल 22 वर्षीय महिला ने भी दम तोड़ दिया। आरोपियों ने महिला पर चाकू से 15 वार किए थे। पति ने वारदात की रात ही दम तोड़ दिया था। मृतका ननद और भांजा भी घायल हुए थे। 5 वर्षीय भांजा डिस्चार्ज हो चुका है, जबकि उसकी ननद अभी मेडिकल अस्पताल में भर्ती है। एसपी ने फरार चल रहे आरोपियों की गिरफ्तारी पर 10 हजार का इनाम घोषित किया है।

गोरखपुर टीआई सारिका पांडे के मुताबिक 14 जून को साईं नगर रामपुर में हुए विवाद में बीजेपी के बूथ अध्यक्ष पुष्पराज उर्फ विजय कुशवाहा (24) की मौत हो गई थी। घटना में उसकी पत्नी नीलम कुशवाहा (22) पर भी आरोपियों ने चाकू से 15 वार किए थे। तब से वह मेडिकल अस्पताल में भर्ती थी। बुधवार देर रात उसकी भी माैत हो गई। गुरुवार को पीएम के बाद शव परिजनों के सुपुर्द किया गया। वारदात में आरोपियों ने विजय के जीजा गोलू कुशवाहा, उसकी पत्नी रुचि उर्फ अनीता और बेटे प्रतीक (5) को भी घाायल किया था। गोलू का घर थोड़ी दूरी पर था।

नाली विवाद से पड़ी दोहरे हत्याकांड की नींव

आरोपी विनय कुशवाहा के घर की नाली का गंदा पानी मृतक पुष्पराज कुशवाहा के घर के सामने फैल रहा था। इसी को लेकर 18 मई को उनके बीच विवाद हुआ था। तब विनय के पक्ष की ओर से विष्णु कुशवाहा ने पुष्पराज उर्फ विजय कुशवाहा, अनिल, शैलेंद्र कुशवाहा, नीलम कुशवाहा के खिलाफ मारपीट, धमकी और गाली गुप्ता देने की शिकायत दर्ज कराई थी। आरोपी एमपीईबी में अधिकारियों के वाहन ठेके पर चलाते थे। इसी रंजिश में इस दोहरे हत्याकांड की नींव पड़ी थी।

नाली विवाद की रंजिश के ठीक एक महीने बाद 14 जून की रात पड़ोसी विनय कुशवाहा ने अपने जीजा गुप्तेश्वर निवासी साला राजा कुशवाहा और जीजा रवि कुशवाहा के साथ लाठी-डंडा और चाकू लेकर खूनी खेल खेला। आरोपियों ने सबसे पहले बीजेपी बूथ अध्यक्ष पुष्पराज सिंह के घर में घुसकर उसे और उसकी पत्नी नीलम पर 40 से अधिक वार कर लहूलहुहान कर दिया। मरणासन्न हालत में दोनों को छोड़कर थोड़ी दूरी पर रहने वाले उसके जीजा गोलू कुशवाहा के घर पहुंची।

बाउंड्रीवॉल कूद कर पहुंचे थे आरोपी

मामले में शिकायतकर्ता रवि कुशवाहा के मुताबिक रात करीब 10.45 बजे घर के गेट का ताला लगाकर अंदर भोजन कर रहा था, तभी कुछ लोगों के घर की बाउंड्रीवॉल कूद कर अंदर आने का शोर हुआ। वह बाहर निकला, तो देखा कि विनय, राजा व रवि घुस आए थे। तीनों ने लाठी से मारकर उसे चोट पहुंचाई। शोर सुनकर उसकी पत्नी रुचि बचाने पहुंची तो विनय ने उस पर चाकू से 12 वार कर डाले। वहीं, उसके पांच वर्षीय बेटे प्रतीक के पैर पर भी चाकू से तीन से चार वार कर दिया। इसके बाद चाकू लहराते हुए आरोपी भाग गए थे। बाहर निकलने पर उसे पता चला कि आरोपी पहले विजय कुशवाहा के घर में वारदात को अंजाम देने के बाद उसके घर में घुसे थे।

10 दिन से फरार आरोपियों पर 10 हजार का इनाम

गोरखपुर पुलिस ने रवि कुशवाहा की शिकायत पर तीनों आरोपियों के खिलाफ एक राय होकर हत्या, हत्या के प्रयास, मारपीट का प्रकरण दर्ज किया था। तब से आरोपी फरार चल रहे हैं। 10 दिन से फरार आरोपियों की गिरफ्तारी पर एसपी ने 10 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है। एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा के मुताबिक गोरखपुर व क्राइम ब्रांच की तीन टीमें आरोपियों की तलाश में लगतार दबिश दे रही हैं। सतना की ओर का लोकेशन मिला था। टीम पता लगाने गई है।

दो साल पहले ही हुई थी पुष्पराज-नीलम की शादी

पुष्पराज राजनीतिक और सामाजिक रूप से काफी सक्रिय रहता था। दो साल पहले ही उसकी नीलम से शादी हुई थी। अभी उनकी कोई औलाद भी नहीं था। पुष्पराज मूलत: सतना अमरपाटन जगदीशपुर का रहने वाला था। पांच साल से वह साईंं नगर में नजूल की भूमि पर मकान बनाकर रहने लगा था। उसके साथ बड़ा भाई व पिता भी रहते थे, लेकिन वे दोनों गांव गए थे।

Related posts

कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने ‘कोविड अनुकूल व्यवहार’ का पालन करना है आवश्यक

NewsFollowUp Team

प्रधानमंत्री मोदी ने भाजपा कार्यकर्ताओं को बताईं बजट की खूबियां

NewsFollowUp Team

महामारी के बीच निपाह, डेंगू और मलेरिया ने बढ़ाया स्वास्थ्य सेवाओं पर भार

NewsFollowUp Team